अयोध्या राम मंदिर निर्माण में हो रही देरी को लेकर विपक्षी दलों के साथ ही खुद बीजेपी नेताओं ने भी अब मोदी सरकार पर निशाना साधना शुरू कर दिया है. मोदी सरकार द्वारा मंदिर निर्माण की बाधाओं को दूर करने के लिए अब तक कोई कदम नहीं उठाए जाने से नाराज इलाहाबाद के बीजेपी सांसद श्यामाचरण गुप्ता ने अपनी ही पार्टी और सरकार पर व्यंग्य किया है. उन्होंने कहा कि हम किसी कीमत पर यह नहीं बताएंगे कि मंदिर कब बनाएंगे. जब मंदिर बनना शुरू हो जाएगा तो उस बारे में सबको जानकारी दे दी जाएगी. सांसद श्यामाचरण गुप्ता ने यह भी कहा है कि हम लोग मंदिर को लेकर तारीख भले ही न बताएं, लेकिन उसके नाम पर वोट जरूर ले लेंगे.

उनके मुताबिक हम लोग यानी बीजेपी जैसे – तैसे करके यानी हर हथकंडे अपनाकर वोट ले लेगी. जरुरत पड़ने पर लोगों के हाथ पैर जोड़ लेगी, मूर्तियां लगवा देगी और उनसे बड़े बड़े वायदे भी कर लेगी. बीजेपी सांसद ने व्यंग्य करते हुए कहा कि मीडिया के लोग गलत तरीके से रामभक्तों के नाराज होने की बात फैला रहे हैं. यह गलत है क्योंकि अयोध्या को छोड़कर पूरे देश में जगह- जगह राम मंदिर बन रहे हैं.

उन्होंने यूपी की योगी सरकार द्वारा अयोध्या में भगवान राम की 152 फिट की मूर्ति लगाए जाने के प्रस्ताव पर कहा कि अगर मूर्ति ही लगाना है तो 152 नहीं बल्कि 252 फिट ऊंची मूर्ति स्थापित कर देनी चाहिए. उन्होंने कहा कि लोग गलत सवाल करते हैं कि मंदिर कैसे बनेगा. मंदिर तो ईट-बालू और सीमेंट से बनेगा और उसके लिए रास्ता भी बुलडोजर के जरिये साफ हो जाएगा. राम मंदिर समेत दूसरे मुद्दों पर पार्टी के रवैये से नाराज बीजेपी सांसद श्यामाचरण ने कहा कि पार्टी सांसद राकेश सिन्हा भी राम मंदिर को लेकर गलतबयानी कर रहे हैं.

वह राज्यसभा से हैं और सिर्फ उच्च सदन में ही बिल ला सकते हैं. लोकसभा में उनके बिल लाए जाने की बात कहकर सिर्फ भ्रम फैलाया जा रहा है, जबकि कानून के मुताबिक ऐसा हो ही नहीं सकता है.

उन्होंने कहा कि लोग गलत सवाल करते हैं कि मंदिर कैसे बनेगा. मंदिर तो ईट-बालू और सीमेंट से बनेगा और उसके लिए रास्ता भी बुलडोजर के जरिये साफ हो जाएगा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here