मानवेंद्र सिंह भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता जसवंत सिंह के बेटे हैं और लंबे समय से पार्टी से नाराज चल रहे थे. जिसके बाद उन्होंने शनिवार को बीजेपी के साथ रहने को भूल बताते हुए उसे छोड़ने का  ऐलान कर दिया. अब कयास लगाए जा रहे हैं कि वह कांग्रेस में शामिल होंगे, हालांकि अब तक इस संबंध में कोई फैसला नहीं हो पाया है.

विधानसभा चुनाव से पहले मानवेन्द्र सिंह द्वारा भारतीय जनता पार्टी का साथ छोड़ने से राजस्थान की सियासत में हलचल मच गई है. शनिवार को बीजेपी विधायक मानवेंद्र ने बाड़मेर में बीजेपी छोड़ने की घोषणा करते हुए कमल के फूल को अपनी भूल बताया था, लेकिन इस भूल को वो कैसे सुधारेंगे इस बारे में उनकी तरफ से कोई निर्णय नहीं लिया गया है.

मानवेंद्र सिंह के कांग्रेस में शामिल होने की अटकलों पर जब राजस्थान कांग्रेस के प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सचिन पाइलेट से सवाल किया गया तो उन्होंने इसे बीजेपी का अंदरूनी मामला बताया. हालांकि, उन्होंने ये जरूर कहा कि बीजेपी में नेता अपमानित महसूस कर रहे हैं और पार्टी से बाहर नई उम्मीदों को तलाश रहे हैं.

सीएम राजे पर निशाना

मानवेंद्र सिंह के सवाल पर सचिन पायलट ने मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे को भी निशाने पर लिया. उन्होंने कहा कि  मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे को इस बात के लिए आत्ममंथन करना चाहिए कि भाजपा छोड़कर जाने वाले लोगों की सूची क्यों बढ़ती जा रही है.

बता दें कि भाजपा के वयोवृद्ध नेता जसवंत के पुत्र और शिव विधानसभा क्षेत्र से भाजपा विधायक मानवेन्द्र सिंह ने शनिवार को बाड़मेर में पार्टी छोड़ने की घोषणा की थी. मानवेन्द्र सिंह के कांग्रेस पार्टी में जाने की अफवाहें चल रही हैं लेकिन अभी तक कोई निर्णय नहीं हुआ है. मानवेंद्र से शनिवार को जब पूछा गया था कि क्या वो कांग्रेस की सदस्यता ग्रहण करेंगे तो उन्होंने कहा कि वह जनता के बीच जाएंगे और उनसे बातचीत करने के बाद ही कोई उचित निर्णय लेंगे. हाल ही में मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे से मतभेद के चलते भाजपा के वरिष्ठ नेता घनश्याम तिवाड़ी ने भी पार्टी छोडकर भारत वाहिनी पार्टी का गठन किया था.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here