20 महिला पत्रकार अकबर के खिलाफ गवाही देने को तैयार

इन 20 महिला पत्रकारों ने एक संयुक्त बयान जारी कर कहा, ‘प्रिया रमानी इस लड़ाई में अकेली नहीं हैं। हम मानहानि मुकदमे की सुनवाई कर रही अदालत से अनुरोध करते हैं कि यौन उत्पीड़न से जुड़ी हमारी गवाही भी सुनी जाए।’ इस संयुक्त बयान पर प्रिया रमानी के अलावा जिन 19 महिला पत्रकारों ने दस्तखत किए हैं, उनके नाम हैं- मीनल बघेल, मनीषा पांडे, तुशिता पटेल, कनिका गहलोत, सुपर्णा शर्मा, रमोला तलवार, होईन्हू हौजे, आयशा खान, कौशलरानी गुलाब, कनिजा गजारी, मालविका बनर्जी, एटी जयंती, हमीदा पारकर, जोनाली बुरगोहैन, सुजाता दत्त सचदेवा, रश्मि चक्रवर्ती, किरण मनाल, संजरी चटर्जी, क्रिश्चियन फ्रांसिस।

महिला प्रेस कोर ने राजनाथ को लिखा पत्र
इंडियन वीमेन्स प्रेस कोर ने केन्द्रीय गृह मंत्री राजनाथ को पत्र लिखकर ‘मी टू’ के तहत अकबर पर लगे आरोपों पर सरकार द्वारा किसी भी तरह की जांच न कराने पर चिंता व्यक्त की। प्रेस कोर ने लिखा, अकबर को पद पर बरकरार रखकर सरकार ने गलत संदेश दिया।

प्रिया का आरोप- महिलाओं को धमका रहे अकबर

इससे पहले अकबर की ओर से मानहानि का नोटिस भेजने के कुछ घंटे बाद ही रमानी ने बयान जारी कर कहा था, ‘मैं इस बात से बेहद दुखी हूं कि केंद्रीय मंत्री ने कई महिलाओं के आरोपों को राजनीतिक साजिश बताते हुए खारिज कर दिया। मेरे खिलाफ आपराधिक मानहानि का मामला बनाकर अकबर ने अपनी मंशा स्पष्ट कर दी है। अपने खिलाफ कई महिलाओं के गंभीर आरोपों पर सफाई देने की बजाए वे उन्हें धमकाकर और प्रताड़ित करके चुप कराने की कोशिश करते दिख रहे है

यौन उत्पीड़न के आरोपों का सामना कर रहे एमजे अकबर ने बुधवार को विदेश राज्य मंत्री पद से इस्तीफा दे दिया। उनके खिलाफ अब तक 9 दिन में 16 महिलाओं ने यौन उत्पीड़न के आरोप लगाए हैं। 20 महिलाएं उनके खिलाफ गुरुवार को पटियाला हाउस कोर्ट में गवाही देने के लिए तैयार हैं। अकबर पर एक हफ्ते से इस्तीफे का दबाव था। इस बीच, ‘मी टू’ अभियान के तहत सामने आ रहे मामलों की जांच के लिए सरकार रिटायर्ड जजों की कमेटी बनाने की बजाए मंत्रियों का एक समूह गठित करने पर विचार कर रही है।

अकबर ने कहा- झूठे आरोपों के खिलाफ लड़ूंगा
अकबर ने इस्तीफे के बाद बयान दिया कि मैं अदालत में न्याय के लिए गया हूं। ऐसे में मेरा पद से इस्तीफा दे देना उचित है। मैं इन झूठे आरोपों के खिलाफ लड़ाई लड़ूंगा।

इस्तीफे के बाद प्रिया ने किया ट्वीट

Priya Ramani@priyaramani

As women we feel vindicated by MJ Akbar’s resignation.
I look forward to the day when I will also get justice in court

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here