राजस्थान में लगातार दूसरी बार सत्ता में बने रहने के प्रयासों के बीच बीजेपी को बड़ा झटका लगने जा रहा है जब बुधवार को पार्टी के संस्थापक सदस्यों में रहे जसवंत सिंह का पूरा परिवार कांग्रेस में शामिल हो जाएगी.

बीजेपी के संस्थापक सदस्य रहे पूर्व विदेश मंत्री जसवंत सिंह का पूरा परिवार अब कांग्रेसी होने जा रहा है.भाजपा से शिव के विधायक और जसवंत सिंह के बेटे मानवेन्द्र सिंह ने बताया कि वो कांग्रेस में शामिल होने जा रहे हैं.

परिवारवालों ने कहा कि पूरा परिवार अब कांग्रेस में शामिल होगा. 17 अक्टूबर को कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की मौजूदगी में दिल्ली में मानवेंद्र सिंह के साथ उनकी पत्नी चित्रा सिंह, जीवंत सिंह के दूसरे बेटे भूपेन्द्र सिंह और जसवंत सिंह की पत्नी शीतल कवर कांग्रेस की सदस्यता लेंगी. इस मौके पर कांग्रेस के महासचिव अशोक गहलोत और राजस्थान कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष सचिन पायलट भी मौजूद रहेंगे.

पिछले महीने छोड़ी थी बीजेपी

पिछले महीने हुई बाड़मेर के पचपदरा की स्वाभिमान रैली में मानवेन्द्र सिंह ने ‘एक ही भूल कमल का फूल’ कहकर बीजेपी छोड़ दी थी. उसके बाद से अटकलें लगाई जा रही थी कि मानवेंद्र सिंह कांग्रेस का दामन थाम सकते हैं लेकिन अब मानवेंद्र ने साफ कर दिया है कि वो कांग्रेस में शामिल हो रहे हैं.

बाड़मेर के कांग्रेसी नेताओं ने भी इसका स्वागत किया है. कांग्रेस के सचिव हरीश चौधरी ने कहा कि उन्होंने मानवेंद्र सिंह का विरोध नहीं किया है. उनके आने से कांग्रेस और मजबूत होगी. राजस्थान में राजपूत भाजपा के कोर वोट बैंक रहे हैं.

राजपूतों को जोड़ने में लगी कांग्रेस

कांग्रेस इस बार कोशिश कर रही है कि नाराज राजपूतों को तोड़ा जाए और कांग्रेस में लाया जाए. हालांकि बीजेपी कोशिश कर रही है कि राजपूतों का डर दिखाकर कांग्रेस के परंपरागत वोटर जाटों को अपने पक्ष में लाया जाए, लेकिन कांग्रेस अपने जाट नेताओं को भरोसे में लेकर नाराज राजपूतों को रिझाने की राजनीति कर रही है.

जसवंत सिंह बाड़मेर लोकसभा सीट से सांसद रह चुके हैं और पिछली बार बीजेपी ने टिकट नहीं दिया तो निर्दलीय चुनाव लड़े थे मगर हार गए थे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here