दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने यमुना नदी पर बने सिग्नेचर ब्रिज का उद्घाटन कर दिया, लेकिन उससे पहले बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी वहां पहुंचे और इस दौरान जमकर हंगामा हुआ। उनके कार्यक्रम में पहुंचने पर हंगामे की स्थिति हो गई। दिल्ली सरकार की तरफ से उन्हें न्योता नहीं दिया गया था। यहां पहुंचने पर बीजेपी और आप सर्मथकों के बीच धक्का-मुक्की भी हुई। मनोज तिवारी ने ट्वीट कर कहा, ‘कुछ शर्म बची है मनीष सिसोदिया, अरविंद केजरीवाल। बैरिकेड लगवा हमें रोक रहे हो।’

इसके अलावा आरोप है कि  ब्रिज का उद्घाटन के दौरान मंच पर दिल्ली बीजेपी के अध्यक्ष मनोज तिवारी के साथ बदसलूकी भी की गई। आरोप है कि ओखला से आम आदमी पार्टी के विधायक अमानतुल्ला खान ने मनोज तिवारी को मंच से गिराने की कोशिश की। वहीं, केजरीवाल के पहुंचने से पहले बीजेपी ने मौके पर पहुंचकर विरोध प्रदर्शन किया।

मनोज तिवारी ने एक चैनल से बातचीत में कहा कि AAP विधायक अमानतुल्ला ने धक्का दिया और जान से मारने की धमकी दी। तिवारी ने कहा कि मैंने किसी को थप्पड़ नहीं मारा। जब मुझे धक्का दिया तो मैं पुलिस से कह रहा था कि इसको पकड़ो।

उन्होंने कहा कि मैं मंच के पास डिवाइडर पर खड़ा था, मेरी समझ में नहीं आ रहा कि अमानतुल्ला ने मुझे क्यों धक्का मारा। तिवारी ने कहा कि जब मुझे धक्का दिया तो उससे पहले अमानतुल्ला ने किसी से विचार विमर्श किया।

दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष मनोज तिवारी अपने समर्थकों के साथ मौके पर पहुंचे। मनोज तिवारी के वहां पहुंचने पर हंगामा शुरू हो गया। इस दौरान मनोज तिवारी को गुस्सा आ गया और वो पुलिस से भिड़ गए। बीजेपी दिल्ली अध्यक्ष मनोज तिवारी ने कहा कि मैंने ब्रिज के निर्माण को दोबारा शुरू कराया था और अब अरविंद केजरीवाल उद्घाटन कर रहे हैं। मनोज तिवारी ने कहा कि इलाके के सांसद होने के नाते मैं यहां सिग्नेचर ब्रिज पर आया हूं। बता दें कि जहां पर उद्घाटन है वहां से सांसद मनोज तिवारी हैं। मनोज तिवारी ने कहा कि मुझे उद्घाटन समारोह में आमंत्रित किया गया था। मैं यहां से सांसद हूं, तो समस्या क्या है? क्या मैं एक अपराधी हूं? उन्होंने कहा कि यहां अरविंद केजरीवाल का स्वागत करने के लिए हूं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here