राफेल डील को लेकर पीएम नरेंद्र मोदी विपक्षी दलों के निशाने पर हैं.अब आम आदमी पार्टी के संयोजक अरविंद केजरीवाल ने संसद के विशेष सत्र बुलाने की मांग कर दी है.

राफेल डील में शुक्रवार को फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांद के सनसनीखेज खुलासे के बाद राजनीतिक भूचाल आ गया है. आम आदमी पार्टी ने प्रधानमंत्री पर निशाना तेज करते हुए राफेल डील को एक बड़ा घोटाला बताया है. वहीं दिल्‍ली के मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने पीएम मोदी से जवाब मांगा है. इसके साथ ही उन्‍होंने विशेष सत्र की मांग भी की है.

Arvind Kejriwal

@ArvindKejriwal

PM shud call a spl session of Parliament to discuss Rafael.

पीएम मोदी दें जबाब

वहीं आम आदमी पार्टी के नेता गोपाल राय ने कहा कि फ्रांस के तत्कालीन राष्ट्रपति झूठ बोल रहे हैं तो ये केवल प्रधानमंत्री की ही नहीं बल्कि पूरे देश की अस्मिता का सवाल है. ऐसी स्थिति में जब देश पूरी दुनिया के सामने इतनी शर्मनाक परिस्थिति से गुजर रहा है, तो क्यों नहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जनता के सामने आकर फ्रांस के राष्ट्रपति के इस झूठ का जवाब देते हैं. गोपाल राय ने आगे कहा कि अगर फ्रांस के राष्ट्रपति सच बोल रहे हैं तो प्रधानमंत्री को इस जघन्य अपराध के लिए नैतिकता के आधार पर अपने पद से इस्तीफा दे देना चाहिए.

आम आदमी के सबाल –

1. राफेल सौदे के मुद्दे पर प्रधानमंत्री चुप क्यों हैं? क्या सच मुच आपने राफेल डील में घोटाला किया है?

2. कैसे एक सरकारी कंपनी एचएएल को हटा कर कुछ दिन पहले बनी अंबानी की एक कंपनी इस समझौते में शामिल हो गई?

3. कैसे 526 करोड़ का राफेल विमान 1670 करोड़ अर्थात कैसे एक जहाज की कीमत 300 गुना बढ़ गई?

आम आदमी पार्टी का आरोप है कि राफेल की खरीद पर दोनों देशों के बीच जो पहला करार हुआ था, भाजपा सरकार ने उसमे बदलाव करके उसमे सीक्रेट क्लॉज के नाम से एक नया क्लॉज जोड़ दिया ताकि इस मुद्दे पर किसी भी प्रकार की जानकारी बाहर न जा सके और राफेल डील की आड़ में जो चोरी की जा रही है, उसे छुपाया जा सके.

गोपाल राय का कहना है कि यह मामला देश की सुरक्षा से जुड़ा है. ये जांच का विषय है. आम आदमी पार्टी की ये मांग है कि एक संयुक्त संसदीय कमेटी का गठन किया जाए और निष्पक्ष तरीके से इस पुरे मुद्दे की जांच कराइ जाए.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here