घटना शिवपुरी जिले के महोबा गांव की है. दबंग गुर्जरों को बीएसपी नेता के माथे पर नीली पगड़ी पसंद नहीं आई. पुलिस के मुताबिक, दबंगों ने दलित को पहले अपने घर बुलाया और  पिटाई की, फिर बाद में उस्तूरे से उसकी चमड़ी उतार दी.

मध्य प्रदेश के शिवपुरी से एक चौंकाने वाली खबर आई है. यहां बसपा के एक दलित नेता को दबंगों ने पगड़ी बांधने के चलते बुरी तरह पीटा और कथित रूप से उसके सिर की चमड़ी उधेड़ दी. पुलिस ने इस बात की जानकारी दी.

बीएसपी के एक अन्य नेता ने न्यूज एजेंसी पीटीआई-भाषा से कहा कि सरदार सिंह जाटव (45) के पगड़ी पहनने पर दबंगों में नाराजगी थी जिस कारण उसे निशाना बनाया गया. पुलिस ने मंगलवार को तीन लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया और आगे की पड़ताल चल रही है.

शिवपुरी से 50 किलोमीटर दूर महोबा गांव की यह घटना है. तीन सितंबर को तीनों आरोपियों ने जाटव को सुरेंद्र गुर्जर के घर बुलाया और कुछ बातों को लेकर गाली-गालौज शुरू कर दी. एक पुलिस अधिकारी के मुताबिक, बात आगे बढ़ती गई और तीनों ने उस्तूरे से जाटव के सिर की चमड़ी उतार डाली.

नरवर थाना प्रभारी बदाम सिंह यादव ने कहा, ‘जाटव ने अपने आरोप में कहा है कि गुर्जर और दो अन्य आरोपियों ने उस्तूरे से उसके सिर की चमड़ी उतारी.’ कोतवाली प्रभारी के मुताबिक अबतक किसी की गिरफ्तारी नहीं हो पाई है और आरोपियों को दबोचने की कोशिश जारी है. यादव ने कहा कि गंभीर रूप से घायल जाटव का इलाज ग्वालियर के एक अस्पताल में चल रहा है. शिवपुरी जिले के बीएसपी अध्यक्ष दयाशंकर गौतम ने दावा किया कि जाटव को पगड़ी पहनने के कारण निशाना बनाया गया.

गौतम ने कहा, ‘जाटव आरोपी के घर जैसे पहुंचा उसे बांध दिया गया और बुरी तरह पिटाई की गई. उन्हें जाटव के नीली पगड़ी पहनने पर एतराज था. पुलिस ने शुरू में गुर्जरों के खिलाफ आरोप दर्ज करने में कोताही बरती.’ बीएसपी नेताओं के एक दल ने इस बाबत शिवपुरी के एसपी को ज्ञापन सौंपा है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here