उन्होंने कहा कि जब कोई आईसीयू में होता है तब उसे सपोर्ट सिस्टम की जरूरत होती है ताकि उसे बचाया जा सके. कांग्रेस को भी इसी तरह का सपोर्ट सिस्टम लगाने का प्रयास हो रहा है.

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने गुरुवार को कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि कांग्रेस आज आईसीयू में है और उसे अपने अस्तित्व के लिये विभिन्न दलों के ‘सपोर्ट सिस्टम’ की जरूरत है. प्रधानमंत्री ने बीजेपी कार्यकर्ताओं के साथ नरेन्द्र मोदी एप के माध्यम से संवाद करते हुए कहा, ”आज महागठबंधन गांठों का बंधन नहीं है यह अपनी कमज़ोरियों को छिपाने के लिए कुछ अवसरवादी लोगों का गठजोड़ है.” उन्होंने कहा कि जब कोई आईसीयू में होता है तब उसे सपोर्ट सिस्टम की जरूरत होती है ताकि उसे बचाया जा सके. कांग्रेस को भी इसी तरह का सपोर्ट सिस्टम लगाने का प्रयास हो रहा है.

 

मोदी ने कहा कि आज महागठबंधन की जो बात हो रही है, वह बीजेपी और बीजेपी कार्यकर्ताओं की ताकत का परिचायक है. कांग्रेस आज कुछ दलों का सहयोग जुटाने में लगी हुई है जबकि मध्यप्रदेश के अपने महाधिवेशन में उसने कहा था कि वह किसी के साथ समझौता नहीं करेगी. अब आज इसकी जरूरत क्यों पड़ रही है.

 

महागठबंधन की अवधारणा पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा, ‘वे दलों को जोड़ रहें है और हम सवा सौ करोड़ दिलों को जोड़ रहे है. इस गठजोड़ में नीति अस्पष्ट है, नेतृत्व में भ्रम है और नीयत भ्रष्ट है.’ उन्होंने कहा कि बीजेपी से डर के कारण वे महागबंधन के खेल में लगे हैं जिनका एकमात्र नारा मोदी हटाओ है और बीजेपी का एक ही संकल्प है देश को आगे बढ़ाओ.

 

मोदी ने कहा कि अगर बीजेपी ने कुछ गलत किया होता तब महागठबंधन की जरूरत नहीं पड़ती लेकिन बीजेपी सरकार ने काफी काम किया है, ऐसे में मुद्दों पर लड़ने की बजाए विपक्ष झूठ के आधार पर लड़ाई लड़ने में लगा है. कांग्रेस पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा, वे नामदार है, हम कामदार हैं. उनका मकसद एक परिवार का कल्याण है, हमारा लक्ष्य राष्ट्र निर्माण है.

 

पीएम ने आगे कहा कि बीजेपी विरोधी की कमजोरी पर नहीं बल्कि सवा सौ करोड़ लोगों की ताकत पर चलती है. हमारे पास बताने को काफी कुछ है और बीजेपी कार्यकर्ता तथ्यों के आधार पर जनता के बीच जाएं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here